Sarvanam in Hindi | सर्वनाम क्या हैं और सर्वनाम के कितने भेद होते हैं।

हमने अपने Hindi Grammar के पिछले लेख में क्रिया और काल के बारे में पढ़ा था। आज के इस लेख में Sarvanam (सर्वनाम) के बारे में बताया गया हैं।

जिसमे आप सर्वनाम किसे कहते हैं, (Sarvanam) सर्वनाम के प्रकार कितने होते हैं और सभी प्रकारों की परिभाषा इत्यादि के बारे में सिख सकते हैं।

Sarvanam in Hindi | सर्वनाम क्या हैं?

Sarvanam in Hindi | सर्वनाम क्या हैं और सर्वनाम के कितने भेद होते हैं।
Sarvanam in Hindi | सर्वनाम क्या हैं और सर्वनाम के कितने भेद होते हैं।

Sarvanam Ke Bhed in Hindi Grammar – Sarvanam Kise Kahate Hain

Sarvanam (सर्वनाम) – संज्ञा के स्थान पर प्रयुक्त होने वाले शब्दों को ‘सर्वनाम’ कहते हैं।

Sarvanam Ke Bhed – सर्वनाम के भेद या प्रकार कितने होते हैं।

हिंदी व्याकरण में सर्वनाम के 6 भेद होते हैं जो की निम्नलिखित हैं –

  1. पुरुषवाचक सर्वनाम✔️
  2. निश्चयवाचक सर्वनाम✔️
  3. अनिश्चयवाचक सर्वनाम✔️
  4. सम्बन्धवाचक सर्वनाम✔️
  5. प्रश्नवाचक सर्वनाम✔️
  6. निजवाचक सर्वनाम✔️

1. पुरुषवाचक सर्वनाम ➦

जो सर्वनाम पुरुषवाचक या स्त्रीवाचक संज्ञाओं के नाम के बदले में आता है, उसे पुरुषवाचक सर्वनाम कहा जाता हैं।

जैसे की – मैं, हम, तुम, वह, वे आदि।✔️

पुरुषवाचक सर्वनाम के तीन भेद होते हैं।

(क.) प्रथम पुरुष – जिस ‘सर्वनाम’ का प्रयोग ऐसी ‘संज्ञा’ के लिए हो, जिसके विषय में बात की जा रही हो, किन्तु जो वहाँ उपस्थित न हो, ऐसे सर्वनाम को प्रथम पुरुष कहा जाता है।✔️

जैसे की – वह, वे, उसकी, उनकी, उसका आदि।✔️

(ख.) मध्यम पुरुष – सुनने वाले के लिए जिस ‘सर्वनाम’ का प्रयोग किया जाता है, उसे मध्यम पुरुष कहते है।✔️

जैसे की – तुम, आप, तुम्हें, आपको आदि।✔️

(ग.) उत्तम पुरुष – जिस ‘सर्वनाम’ का प्रयोग कहने या बोलने वाला अपने लिए करता है, उसे उत्तम पुरुष कहते हैं।✔️

जैसे की – मैं, हम, मेरा, मुझसे आदि।✔️


2. निश्चयवाचक सर्वनाम ➦

जिससे निश्चित व्यक्ति, वस्तु या भाव का बोध हो, उसे निश्चयवाचक सर्वनाम कहा जाता हैं।

जैसे की – यह, वह, ये, वे, आप आदि।✔️


3. अनिश्चयवाचक सर्वनाम ➦

जिससे किसी निश्चित व्यक्ति, वस्तु या भाव का बोध न हो, उसे अनिश्चयवाचक सर्वनाम कहा जाता हैं।

जैसे की – कोई, कुछ।✔️


4 . सम्बन्धवाचक सर्वनाम ➦

जिस ‘सर्वनाम’ से वाक्य में आये ‘संज्ञा’ के साथ ‘सम्बन्ध’ स्थापित किया जाय, उसे सम्बन्धवाचक सर्वनाम कहा जाता हैं।

जैसे की – जो, सो, जौन, तीन।✔️


5 . प्रश्नवाचक सर्वनाम ➦

जिस ‘सर्वनाम’ का प्रयोग ‘प्रश्न’ करने के लिए किया जाता है, उसे प्रश्नवाचक सर्वनाम कहा जाता हैं।

जैसे की – कौन, क्या।✔️


6 . निजवाचक सर्वनाम ➦

जिस ‘सर्वनाम’ से स्वयं या निज ‘ का बोध हो, उसे निजवाचक सर्वनाम कहते हैं।

जैसे की – आप, स्वयं।✔️


अंतिम विचार – Final Thoughts

अगर आपको आज का यह लेख Sarvanam in Hindi: सर्वनाम क्या हैं और सर्वनाम के कितने भेद होते हैं।? अच्छा लगा हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर जरूर करे।

यह भी पढ़े-

Leave a Comment